यूपी कई सिनेमाघर में, एडवांस बुकिंग के बावजूद पद्मावत नहीं होगी रिलीज़

Share On :

यूपी। प्रदेश के इलाहाबाद में क्षत्रिय समाज के विरोध-प्रदर्शन को देखते हुए सिनेमाघर मालिकों ने संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत के रिलीज़ को रोक दिया है. एडवांस बुकिंग के बावजूद शहर के किसी भी थिएटर या मल्टीप्लेक्स में पद्मावत रिलीज़ नहीं हो सकी. सिनेमाघर मालिकों के मुताबिक आज के सभी शो को रद्द कर दिया गया है. विरोध-प्रदर्शन खत्म होने और माहौल सामान्य होने तक फिल्म का प्रदर्शन नहीं किया जाएगा. बता दें सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आज पूरे देश में पद्मावत फिल्म को रिलीज़ किया गया है.

हालांकि उत्तर प्रदेश के मेरठ, लखनऊ, वाराणसी, चदौली, आगरा, आगरा समेत तमाम शहरों में भारी सुरक्षा के बीच फिल्म को रिलीज़ किया गया. लेकिन करणी सेना की धमकी के बाद लोगों में फिल्म को लेकर उत्साह कम देखने को मिल रहा है।

मूवी रिव्यू: भव्य है ‘पद्मावत’, ना कोई ड्रीम सीक्वेंस है ना ही कोई विवादित सीन

फिल्म देखने के बाद इस पर हो रहा विवाद भी पूरी तरह खत्म हो जाता है. इस फिल्म में कुछ भी ऐसा नहीं है जिससे किसी की भावना को ठेस पहुंचे. रानी पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी के जिस ड्रीम सीक्वेंस को लेकर इतना बवाल हो रहा है वैसा इस फिल्म में कुछ है ही नहीं. यहां तक कि ये दोनों किसी फ्रेम में साथ तक नहीं दिखे हैं. फिल्म देखने के बाद तो ऐसा ही लगता है कि फिल्म का नाम ‘पद्मावती’ होता तो भी राजपूतों की शान को कोई ठेस नहीं पहुंचती. फिल्म राजपूतों की शौर्य गाथा तो है, इसमें उनके बखान में इतने ज्यादा डायलॉग भर दिए गए हैं कि दो चार तो आपको भी याद रह जाएंगे.
जिस घूमर गाने को लेकर आपत्ति थी उसमें एडिटिंग के जरिए पद्मावती की कमर को ढ़क दिया गया है. संभव है इससे आहत भावनाओं को थोड़ी राहत मिले लेकिन ढकी कमर के बावजूद गाने की सेक्स अपील बरकरार है. दरअसल फिल्म में जिस हद तक जाकर राजपूतों की वीरता का बखान किया गया है, उससे तो तमाम शिकवे शियाकत दूर हो जाने चाहिए. उल्टे फिल्म देख कहीं राजपूत भंसाली के फैन मत हो जाएं.

भारतीय सिनेमा की पहली IMAX 3D फिल्म है ‘पद्मावत’

‘पद्मावत’ भारत की पहली ऐसी फिल्म है जो IMAX 3D में रिलीज हो रही है. भंसाली अपनी फिल्म को भव्य और विजुअली प्रभावशाली बनाने के लिए ही जाने जाते हैं. 3डी में देखते समय ये फिल्म कहीं कहीं पर रोमांच पैदा करती है और बहुत ही अलग अनुभव देती है. फिल्म में 3डी इफेक्ट की वजह से जब युद्ध के सीन चल रहे होते हैं तब ऐसा लगता है कि तीर सीधा आकर आपको ही लग रहा है. भारतीय सिनेमा और दर्शकों के लिए ये फिल्म इस लिहाज से बहुत ही बेहतरीन है.

loading...
Comments
No comments yet. Be first to leave one!

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News