विदेश में लगातार 11 बार घुटने टेक चुके हैं कंगारू, सालभर से नहीं मिली जीत

Share On :

स्टीव स्मिथ की टीम में अब वो बात नहीं, जिसके लिए कभी ऑस्ट्रेलियाई जाने जाते थे. एक-दो हार तो चलती है, लेकिन ये क्या विदेश में लगातार 11 वनडे हार. ये रिकॉर्ड कम से कम किसी चैंपियन का तो बिल्कुल भी नहीं हो सकता है. देखा जाए तो वह पिछले 12 महीनों से लगातार विदेश में हार रही है. बता दें कि 2015 में ऑस्ट्रेलिया ने मेजबान न्यूजीलैंड को हराकर वनडे वर्ल्ड चैंपियन बनी थी.

स्टीवन स्मिथ की टीम को आखिरी बार आयरलैंड के खिलाफ जीत 27 सितंबर, 2016 को मिली थी. ये मैच साउथ अफ्रीका में हुआ था. उसके बाद से उसे साउथ अफ्रीका, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और अब भारत में हार मिली है. भारत के खिलाफ 5 मैचों की वनडे सीरीज में अब तक खेले गए तीनों मैच वो हार चुकी है. कहने वाले तो कह रहे हैं कि अब इस टीम में पहले के मुकाबले कोई दम नहीं है.

साउथ अफ्रीका ने जड़ा जीत का ‘पंच’
कंगारू टीम के इस हार के सफर की शुरुआत साउथ अफ्रीका के खिलाफ हुई. 5 वनडे मैचों की सीरीज में उसे 5-0 से हार का सामना करना पड़ा. डेविड वॉर्नर, स्टीवन स्मिथ, ग्लेन मैक्सवेल जैसे दिग्गजों से सजी टीम हर क्षेत्र में फिसड्डी साबित हुई. रिजल्ट सबके सामने रहा.

चैपल-हेडली ट्रॉफी गंवाई
साउथ अफ्रीका से मिली हार के बाद ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड से चैपल-हेडली ट्रॉफी अपने घरेलू मैदान पर खेली और 3-0 से जीती. लेकिन, जब ये टीम न्यूजीलैंड गई इसी सीरीज के लिए तो वहां उसे 2-0 से हार का सामना करना पड़ा. यानी विदेश पहुंचते ही फिर हार मिली.

चैंपियंस ट्रॉफी में भी हार
न्यूजीलैंड से घरेलू सीरीज के बाद कंगारू टीम ने पाकिस्तान से अपने ही मैदान पर वनडे सीरीज में हिस्सा लिया. इसमें उसे 4-1 से जोरदार जीत मिली, लेकिन यही टीम जब इंग्लैंड चैंपियंस ट्रॉफी खेलने पहुंची तो रिजल्ट फिर वही. उसने 3 मैच खेले, जिसमें से दो मैच बारिश की वजह से पूरे नहीं हो सके. तीसरे मैच में इंग्लैंड ने 40 रन से जीत दर्ज की.

अब भारत से हैट्रिक हार
भारत ने चेन्नई, कोलकाता और इंदौर में एक के बाद एक हैट्रिक जीत दर्ज करते हुए सीरीज में 3-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली. तीसरे वनडे में मिली जीत के बाद भारत वर्ल्ड रैंकिंग में भी नंबर वन पर पहुंच गई. सीरीज में अब भी दो मैच खेले जाने हैं. देखना है ऑस्ट्रेलिया वापसी कर पाएगी या नहीं?

loading...
Comments
No comments yet. Be first to leave one!

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News