महंगाई, बढ़े पेट्रोल और डीजल के दाम, सरकार के संकेत-‘कम नहीं होगा टैक्स

Share On :

खबर। लगातार 11वें दिन पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ गए हैं. पेट्रोल की कीमतों में 30 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है. पेट्रोल-डीजल पर हाहाकार के बीच सरकार के संकेत दिए हैं कि टैक्स कम नहीं होगा, बल्कि इसके दूसरे रास्ते तलाशे जाएंगे. इस बीच केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने साफ किया है कि अगर टैक्स कम किए गए तो इससे कल्याणकारी योजनाएं प्रभावित होंगी.

हालांकि, मोदी सरकार तीन दिन से कटौती के संकेत दे रही थी लेकिन अब तक कुछ नहीं किया गया है. दिल्ली में पेट्रोल अपने सबसे ऊपरी स्तर 77 रुपये 47 पैसे पर पहुंच गया है. पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा है कि हमारी सरकार इस पर चर्चा और चिंता दोनो कर रही है जल्द ही हम कोई समाधान लाएंगे.

कहां कितने रुपए में बिक रहा है पेट्रोल?

आज दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 77 रुपया 47 पैसे है. वहीं कोलकाता में 80 रुपया 12 पैसे, मुंबई में 84 रुपया 99 पैसे और चेन्नई में 80 रुपया 11 पैसा प्रति लीटर है.

डीजल की कीमत?

दिल्ली में डीजल की कीमत 68 रुपया 53 पैसे, कोलकाता में 71 रुपया 08 पैसा, मुंबई में 72 रुपया 96 पैसा और चेन्नई में 72 रुपया 35 पैसे प्रति लीटर हो गया है. पेट्रोल डीजल की कीमतों में इजाफे से इसका सीधा असर आपकी-हमारी जेबों पर पड़ता है. सब्जी, ट्रांसपोर्ट और अन्य दैनिक उपयोग की वस्तुओं के दामों में इजाफा होने का खतरा बना रहता है.

महंगाई को लेकर जगह-जगह विरोध प्रदर्शन

पेट्रोल डीजल की कीमतों को लेकर देश भर में लोग गुस्से में हैं. मध्यप्रदेश में भोपाल और गुवाहाटी में कल लोग सड़क पर उतर आए.लोगों का कहना है कि पेट्रोल और डीजल के लगातार दाम बढ़ रहे हैं. मोदी सरकार देश को बर्बादी की कगार पर ले आई है. आम लोगों का जीना मुश्किल हो गया है.

एक लीटर पेट्रोल पर 40 रुपए टैक्स वसूल रही है सरकार

बता दें कि एक लीटर पेट्रोल की कीमत सिर्फ 37 रुपए है, लेकिन सरकार एक लीटर पेट्रोल पर 40 रुपए टैक्स वसूल रही है. यानी पेट्रोल की कीमत से ज्यादा जनता टैक्स दे रही है. दरअसल अभी डीलर एक लीटर पेट्रोल 37.65 रुपए में खरीद रहा है. इसपर वह तीन रुपए 63 पैसे कमीशन वसूल रहा है. 19 रुपए 48 पैसे इसपर एक्साइड ड्यूटी लग रही है और 16 रुपए 41 पैसे वैट वसूला जा रहा है. ऐसे में एक लीटर पेट्रोल पर 39 रुपए 52 पैसे टैक्स वसूला जा रहा है.

मोदी सरकार के कार्यकाल में बिक रहा है सबसे महंगा पेट्रोल

बता दें कि पेट्रोल-डीजल भारत के इतिहास में कभी भी दिल्ली में इतना महंगा नहीं बिका. जितना महंगा आज मोदी सरकार के कार्यकाल में बिक रहा है. दिल्ली में मनमोहन सिंह की सरकार में सबसे अधिक महंगा पेट्रोल 14 सितंबर 2013 को बिका था. तब पेट्रोल की कीमत 76 रुपये छह पैसे थी.

पिछले चार सालों में मोदी सरकार ने 9 बार एक्ससाइज ड्यूटी बढाई है और तीन लाख 10 हजार करोड़ से ज्यादा अपने खजाने में भरे हैं. आज सरकार न तो एक्साइज ट्यूटी घटा रही है और न ही पेट्रोल-डीजल को जीएसटी के दायरे में लाने की कोशिश कर रही है.

loading...
Comments
No comments yet. Be first to leave one!

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News