मरीज के पैर को ही बनाया तकिया, इंसानियत को शर्मसार करने वाली करतूत

Share On :

यूपी। झांसी में डॉक्टरों की इंसानियत को शर्मसार करने वाली करतूत सामने आई है। शहर के महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज के इमरजेंसी वार्ड में इलाज के लिए व्यक्ति के सिर के नीचे उसके कटे पैर का तकिया बनाकर रख दिया। डॉक्टर की इस हरकत ने हॉस्पिटल में मौजूद लोगों को हैरत में डाल दिया। जिसके तुरंत बाद उन्होंने घटना की जानकारी सीएमएस को दी।

दरअसल, शनिवार सुबह मऊरानीपुर इलाके के बम्हौरी और खिलारा के बीच स्कूल के बच्चों से भरी बस पलट गई। इस हादसे में छह बच्चे दबकर घायल हो गए। इस ही हादसे में बस के क्लीनर लहचूरा थाना इलाके के गांव इटायल के रहने वाले घनश्याम का बायां पैर घुटने के नीचे से कटकर अलग हो गया।
– घायल बच्चों का उपचार मऊरानीपुर के कम्युनिटी हेल्थ सेंटर में किया गया, जबकि घनश्याम को मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। परिवार के लोग जब पीड़ित को लेकर मेडिकल कॉलेज पहुंचे तो डॉक्टरों ने उसके कटे हुए पैर को उसके सिर के नीचे तकिया की जगह लगा दिया।
– इसके तुरंत बाद वहां मौजूद लोगों ने नाराजगी जताते हुए हॉस्पिटल के सीएमएम को फोन करके सूचना दी।
– घटना की जानकारी मिलते ही मेडिकल कॉलेज के सीएमएस डॉ. हरीशचंद्र आर्य मौके पर पहुंचे। उन्होंने तुरंत इमरजेंसी में मौजूद डॉक्टरों को फटकार लगाई। इसके बाद मरीज के सिर के नीचे से कटा हुआ पैर हटवाकर तकिया लगवाया।
सरकार ने दिखाई गंभीरता…
– यूपी सरकार ने महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज झांसी में मरीज का पैर काटकर उसके सिर के नीचे रखने के मामले को गंभीरता से लिया है।
– मंत्री से लेकर मुख्य सचिव तक ने संवेदनशीलता दिखाते हुए शुरआती जांच में दोषी पाए गए डॉक्टरों और स्टाफ के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दिए।
– चिकित्सा शिक्षा मंत्री के निर्देश पर दो डॉक्टर और दो नर्स को सस्पेंड कर दिया गया है। जबकि डॉक्टर ऑन कॉल को चार्जशीट दी गई है।
– शासन ने इस मामले में जांच बैठा दी है और मेडिकल कालेज की प्रधानाचार्य से पूरे मामले पर रिपोर्ट तलब की गई है।

loading...
Comments
No comments yet. Be first to leave one!

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News