नेपाल में एयरपोर्ट पर बांग्‍लादेशी प्लेन क्रैश, 67 में से अब तक 20 शव बरामद

Share On :

खबर। बांग्लादेश का एक यात्री विमान नेपाल की राजधानी काठमांडू स्थित त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर क्रैश हो गया. मिली जानकारी के अनुसार अब तक 17 लोगों को बचाया जा सका है, जबकि विमान के मलवे से 20 शव बरामद किए जा चुके हैं. घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया है. बताया जा रहा है कि इस विमान हादसे में जान गंवाने वाले ज्यादातर बांग्लादेशी नागरिक हैं.

अभी तक मिली जानकारी के मुताबिक विमान में 37 पुरुष, 27 महिलाएं और दो बच्चे समेत कुल 67 लोग सवार थे. फिलहाल विमान के हादसे होने की वजह साफ नहीं हो पाई है. हालांकि अगर न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की मानें तो काठमांडू के त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर उतरते वक्त विमान अपना संतुलन खो बैठा और हादसे का शिकार हो गया.

हादसे की सामने आई तस्वीरों में विमान आग में जलता नजर आ रहा है. दुर्घटनाग्रस्त विमान बांग्लादेश की एयरलाइन यूएस-बांग्ला का था. घायलों को तुरंत अस्पताल भेजा गया है और दुर्घटनास्थल पर बचाव कार्य जारी है. इस हादसे के बाद काठमांडू के त्रिभुवन इंटरनेशनल एयरपोर्ट को जाने वाले सभी विमानों को लखनऊ और कोलकाता डायवर्ट कर दिया गया है.

विमान हादसे में को-पायलट की मौत हो गयी है.

एयरलाइन यूएस-बांग्ला एक बांग्लादेशी निजी एयरलाइन है, जिसकी स्थापना 2013 में अमेरिका और बांग्लादेश के बीच ज्वाइंट वेंचर के तहत की गई थी. यह एयरलाइन ढाका से नेपाल के रूट पर था. हादसे के बाद काठमांडू एयरपोर्ट को बंद कर दिया गया है. हादसा उस वक्त हुआ जिस दौरान विमान त्रिभुवन एयरपोर्ट पर लैंड कर रहा था. एयरपोर्ट के प्रवक्ता के अनुसार, विमान में करीब 67 यात्री मौजूद थे. विमान क्रैश की खबर के बाद सोशल मीडिया पर कई तरह के वीडियो और फोटोज सामने आने लगे हैं.

इस हादसे से एक दिन पहले संयुक्त अरब अमीरात से इस्तांबुल जा रहा तुर्की का एक निजी जेट विमान ईरान के पर्वतीय क्षेत्र में दुर्घटनाग्रस्त हो गया. उसमें 11 लोग सवार थे. हादसे में सभी 11 लोगों की मौत हो गई. ईरानी टेलीविजन ने देश के आपदा प्रबंधन संगठन के प्रवक्ता मुज्तबा खालिदी के हवाले से खबर दी कि शहर ए-कोर्ड में विमान एक पहाड़ से टकरा गया और उसमें आग की लपटें उठने लगीं.

loading...
Comments
No comments yet. Be first to leave one!

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related News